Ghosh and Aghosh in Hindi (घोष एवम अघोष)

Top

व्यंजन (vyanjan) वह ध्वनि है जिसके उच्चारण (pronunciation) में मुख से आने वाली वायु (air) सीधे न आकर मुख के किसी भाग से रुककर आगे बढ़ती है। इस अवरोध के कारण अनेक प्रकार की ध्वनि उत्पन्न होती हैं जिन्हे हम व्यंजन कहते हैं।
A letter is a sound which is produced when breath is partly obstructed by different parts of mouth.
स्वरतंत्रियों के कम्पन के आधार पर हिंदी व्यंजनों को दो वर्गों में विभाजित किया गया है
On the basis of vibration of voice box, the letters are divided into two parts.
(1) घोष (Ghosh)
(2) अघोष (Aghosh)

घोष (Ghosh)
घोष वे वर्ण हैं जिनके उच्चारण में स्वरतंत्रियों में कम्पन होता है। इन वर्णों को बोलते समय केवल स्वर नाद का प्रयोग होता है। घोष वर्णों को सघोष नाम से भी जाना जाता है। घोष वर्णों की संख्या 31 है।
The letters for which voice box is vibrated during pronunciation are known as Ghosh or Saghosh.

अघोष (Aghosh)
अघोष वर्णों वे वर्णों होते हैं जिनके उच्चारण में स्वरतंत्रियों में कम्पन नहीं होता है। अर्थात जिन वर्णों के उच्चारण में स्वर नाद की जगह श्वास का प्रयोग होता है अघोष वर्ण कहलाते हैं। हिंदी वर्णमाला में अघोष वर्ण 13 हैं।
The letters for which voice box is not vibrated, instead breath is used during pronunciation are called Aghosh.


Examples

घोष/सघोष के उदाहरण
Examples of Ghosh/Saghosh are written below.
22 व्यंजन
(22 Consonants)
ग (ga), घ (gha), ङ (da)
ज (ja), झ (jha), ञ (iya)
ड (da), ढ (dha), ण (na), ड़ (da), ढ़ (dha)
द (da), ध (dha), न (na)
ब (ba), भ (bha), म (ma)
य (ya), र (ra), ल (la), व (va), ह (ha)
9 स्वर
(9 Vowels)
अ (a), आ (aa), इ (e), ई (ee), उ (u), ऊ (uu), ए (ae), ऐ (ai), ओ (o)

अघोष के उदाहरण
Examples of Aghosh are given below.
क (ka), ख (kha)
च (cha), छ (chha)
ट (ta), ठ (tha)
त(ta), थ (tha)
प (pa), फ (pha)
श (sha), ष (sha), स (sa)